सितम्बर 26, 2022 6:12 अपराह्न

Category

मन की बात कार्यक्रम पर 'The Wire' का प्रपंच:

पीएम मोदी 'मन की बात' कार्यक्रम में कुपोषण के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न उदाहरण दे रहे थे। प्रॉपगेंडा चैनल 'THE WIRE' ने पीएम मोदी के इसी वक्तव्य को तोड़-मरोड़कर पेश किया है।

809
2min Read
द वायर

प्रॉपगेंडा वेबसाइट ‘THE WIRE’ ने एक बार फिर फेक न्यूज फैलाने का काम किया है। एक बार फिर इनके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं। इसके लिए The Wire ने प्रधानमंत्री के वक्तव्य को तोड़ मरोड़कर पेश किया है। 

अपने लेख में ‘THE WIRE’ लिखता है, “प्रिय पीएम नरेन्द्र मोदी, कुपोषण अच्छे खाने से दूर होता है, भजन से नहीं”

सच क्या है?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मन की बात’ के 92वें एपिसोड में मध्य प्रदेश के दतिया जिले में ‘मेरा बच्चा अभियान’ का जिक्र किया था।

पीएम मोदी ने कहा था, “क्या कुपोषण दूर करने में गीत-संगीत और भजन का भी इस्तेमाल हो सकता है?”

उन्होंने कहा, “मेरा बच्चा अभियान के तहत दतिया जिले में भजन-कीर्तन आयोजित हुए, जिसमें ‘पोषण गुरु’ कहलाने वाले शिक्षकों को बुलाया गया।”

पीएम मोदी ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कुपोषण के प्रति जागरुक करने के लिए विभिन्न उदाहरण दे रहे थे। प्रॉपगेंडा चैनल ‘THE WIRE’ ने पीएम मोदी के इसी वक्तव्य को तोड़-मरोड़कर पेश किया है। ‘THE WIRE’ ने यह बताने का प्रयास किया है कि पीएम मोदी ने कुपोषण को दूर करने के लिए भजन को रास्ता बताया है।

वाम-लिबरल गिरोह इससे पहले COVID-19 महामारी के दौरान भी इस तरह के अजेंडा में शामिल रहा है।

COVID-19 महामारी के समय कोरोना वॉरियर्स के उत्साह को बढ़ाने के लिए ताली और थाली मुहिम को कोसने का प्रयास किया गया।

जब समस्त विश्व कोरोना महामारी के दौरान पीएम मोदी के प्रयासों और ‘वैक्सीन मैत्री’ की तारीफ़ कर रहा था, तब हमारे देश का वाम-लिबरल वर्ग इन नीतियों के ख़िलाफ़ अजेंडा चलाने में शामिल रहा।

बात चाहे जन-धन खातों की हो, या फिर हर घर शौचालय की, वाम-लिबरल वर्ग ‘मोदी-विरोध’ की अपनी ‘पॉलिसी’ में अब जनकल्याण की नीतियों का भी विरोध करने से नहीं चूकता।

The Indian Affairs Staff
The Indian Affairs Staff
All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts