सितम्बर 27, 2022 6:36 पूर्वाह्न

Category

AAP की पंजाब सरकार का अंतरराष्ट्रीय असत्य, BMW ने भगवंत मान के दावे को नकारा

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का यह दावा असत्य निकला कि BMW, पंजाब में नया प्लांट लगाने जा रही है

1219
2min Read
Bhagwant Maan

मार्गदर्शक अरविन्द केजरीवाल के नक्शेकदम पर चलते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार (13 सितंबर , 2022) को एक ट्वीट किया। उन्होंने दावा किया कि BMW, पंजाब में नया प्लांट लगाने जा रही है। इससे पहले कि अरविन्द केजरीवाल रीट्वीट कर पाते, अगले ही दिन BMW ने साफ कर दिया कि पंजाब में ऐसे किसी भी प्लांट की स्थापना नहीं हो रही है। 

भगवंत मान का दावा 

हाल ही में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान जर्मनी के दौरे पर गए थे। इस दौरान भगवंत मान विश्वविख्यात ऑटोमोबाइल निर्माता BMW के मुख्यालय में भी गए। 

भगवंत मान
BMW अधिकारियों से बातचीत करते भगवंत मान

ट्विटर पर उन्होंने बताया कि बातचीत के बाद BMW के अधिकारी पंजाब में प्लांट लगाने पर सहमत हुए हैं। 

यही दावा पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी ट्विटर पर किया। 

पंजाब मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ट्वीट किया ही था कि कई मीडिया संस्थानों ने बिना किसी जांच-पड़ताल किए बिना यह खबर चला दी। किसी ने BMW से पूछने की जहमत भी नहीं उठाई कि यह खबर पर आप क्या कहना चाहेंगे?

भगवंत मान के दावे का BMW ने किया खंडन 

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के दावे की हवा निकालते हुए ऑटोमोबाइल निर्माता BMW ने गुरूवार को अपने आधिकारिक बयान में बताया कि पंजाब में कोई भी प्लांट लगाने का उनका कोई आशय नहीं है। 

BMW का बयान

खबर आने के बाद पंजाब के विपक्षी दलों ने जहां पंजाब सरकार की निंदा की तो वहीं सोशल मीडिया पर भगवंत मान का जमकर मजाक उड़ा। 

आम आदमी पार्टी के झूठ

यह पहली बार नहीं है जब सोशल मीडिया पर आम आदमी पार्टी झूठ बोलते हुए पकड़ी गई है। बीते रविवार को आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाते हुए कहा था कि पुलिस ने पार्टी के गुजरात कार्यालय पर रेड की थी। हालांकि बाद में अहमदाबाद पुलिस ने जानकारी दी कि ऐसी कोई भी कार्यवाई नहीं हुई है। 

अरविन्द केजरीवाल का ट्वीट

इससे पहले अरविन्द केजरीवाल ने 14 अगस्त को गुजरात के पत्रकारों की विजिट को लेकर ट्वीट किया था। उन्होंने दावा किया था कि गुजरात के कुछ पत्रकार दिल्ली आकर उनसे मिले और मोहल्ला क्लिनिक के साथ अस्पतालों की तारीफों के पुल बांधे। 

एक आरटीआई द्वारा जानकारी मिली कि अरविन्द केजरीवाल का दावा असत्य है क्योंकि 14 अगस्त को मुख्यमंत्री कार्यालय में उनका कोई भी कार्यक्रम नहीं था। 

भारतीय राजनीति में छल, प्रपंच, असत्य और बल के प्रयोग का चलन शायद बरसों से एक आम बात बन गई है लेकिन राजनीतिक आकांक्षा के कारण अंतरराष्ट्रीय पटल पर देश की बदनामी नहीं होनी चाहिए। 

The Indian Affairs Staff
The Indian Affairs Staff
All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts