सितम्बर 27, 2022 7:25 पूर्वाह्न

Category

Category: क्रांतिकारी कलम

कामरेड बहन का छाता

बहन कामरेड बहुत चिंतित थीं। लंबे समय से देश में ‘फाशीवाद’ का माहौल चल रिया था। एक मिनट! मैं ‘स’ को ‘श’ नहीं बोलता। अन्यथा न लें! दरअसल, बहन कामरेड अंग्रेजी में फाशिज्म बोलने की आदी हैं।

Read More »