फ़रवरी 4, 2023 10:12 पूर्वाह्न

Category

जनसंख्या: अगले साल तक भारत निकल जाएगा चीन से आगे, जानें विश्व का क्या है हाल

संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार 2023 में, एक बड़ा बदलाव आने वाला है, जब भारत चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा।

1272
2min Read
population जनसंख्या

मानव जाति की जनसंख्या 1973 के मुकाबले दोगुनी हो गई है

बेशक, दुनिया में जनसंख्या की वृद्धि एक समान नहीं रही है, और दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाले देशों की रैंकिंग भी बदल रही है। विजुअल कैपिटलिस्ट  ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों का उपयोग करते हुए, पता लगाया है कि दुनिया की 8 अरब आबादी का सबसे बड़ा हिस्सा किन देशों में है।

शीर्ष 10 सबसे अधिक आबादी वाले देश

ऊपर दिखाए गए चित्र में बताया गया है कि पिछले 50 वर्षों में दुनिया के सर्वाधिक जनसंख्या वाले टॉप 10 देशों की जनसंख्या में किस तरह परिवर्तन हुआ है:

ऊपर दिए गए आंकड़ों से पता चलता है कि दुनिया के इन सबसे ज्यादा आबादी वाले देशों की जनसंख्या के विकास में अत्यधिक भिन्नता है। जर्मनी में पिछले 50 सालों में सिर्फ 6% की जनसंख्या वृद्धि हुई है, जबकि इसी दौरान पाकिस्तान और नाइजीरिया ने अपनी आबादी को लगभग चौगुना कर लिया है।

आधी सदी पहले, 10 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले केवल 6 देश थे। जबकि अब 15 देशों ने इस मुकाम को पार कर लिया है, और वियतनाम भी इस मील के पत्थर को पार करने के लिए तैयार है।

टॉप 20 सबसे ज्यादा आबादी वाले देश

जब हम एक ही समय अवधि में दुनिया के टॉप 20 सबसे ज्यादा आबादी वाले देशों की जांच करते हैं, तो चीजें और भी दिलचस्प हो जाती हैं :-

50 साल पहले, नाइजीरिया टॉप 20 में अकेला अफ्रीकी देश था। पर अब, इथियोपिया, मिस्र और कांगो भी इस सूची में शामिल हो गए हैं, इन सभी देशों में आश्चर्यजनक रूप से जनसंख्या वृद्धि हुई है।

अभी भी अगले कुछ दशकों में अफ्रीकी देशों से तेज जनसंख्या वृद्धि होने की उम्मीद है, इसलिए साल 2100 तक, दुनिया के एक चौथाई लोग अफ्रीकी हो सकते हैं।

यूरोप में स्थिति इसकी उलट है। 1973 में, इस टॉप 20 सूची में 6 यूरोपीय देश थे, पर अब इसमें केवल रूस और जर्मनी ही बचे हैं, जर्मनी भी जल्द ही टॉप 20 रैंकिंग से बाहर हो जाएगा।

यूक्रेन, पहले से ही जनसंख्या में गिरावट झेल रहा था, पर अब रूसी हमले से मची उथल-पुथल के बाद यह अगले साल तक 41 वें स्थान पर गिर सकता है। फरवरी 2022 में रुसी हमले के बाद से, यूक्रेन से लगभग 1.4 करोड़ लोग सीमा पार दूसरे देशों में जा चुके हैं।

जनसंख्या कितनी बड़ी होगी?

वैश्विक जनसंख्या का वितरण। इमेज स्रोत: विजुअल कैपिटलिस्ट

आंकड़ों के अनुसार भारत की आबादी अगले साल तक चीन को पार कर जाएगी। एक बार अगर भारत दुनिया का सबसे बड़ी आबादी वाला देश बन गया, तो भविष्य में कई दशकों तक भारत इसी स्थान पर बना रहेगा, 2060 के दशक में भारत की आबादी चरम पर पहुँच जाएगी (अगर तब तक अनुमानित विकास दर में खास बदलाव नहीं होता तो)। भारत की चरम आबादी लगभग 1.7 अरब लोगों की होगी।

दुनिया की आबादी भारत के बाद लगभग 2080 के आसपास चरम पर पहुंचेगी, जो लगभग 10.5 अरब होने की उम्मीद है।

एशिया के देशों की जनसंख्या

एशिया महाद्वीप की जनसंख्या का वितरण। इमेज स्रोत: विजुअल कैपिटलिस्ट

2022 में 4.7 अरब लोगों के साथ, एशिया अभी दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला महाद्वीप है।

एशिया महाद्वीप में विशाल जनसंख्या वाले दो देशों चीन और भारत का प्रभुत्व है। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार 2023 में, एक बड़ा बदलाव आने वाला है, जब भारत चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा। चीन सदियों से वैश्विक आबादी में शीर्ष स्थान पर रहा है, लेकिन लंबे समय से चीन की कठोर जनसंख्या नियंत्रण नीति की बदौलत, दोनों देशों की जनसंख्या वृद्धि दर के बीच के अंतर ने निर्णायक परिवर्तन ला दिया है।

जब बात जनसंख्या जैसे मुद्दे की हो तो राजनीति नहीं, राष्ट्रनीति चाहिए

विकसित देशों की तुलना में भारत में तेजी से घटती गरीबी, क्या कहते हैं आँकड़े

महँगाई की मार और मंदी से अमेरिकी गाँव हो रहे खाली

Mudit Agrawal
Mudit Agrawal
All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts