फ़रवरी 4, 2023 10:27 पूर्वाह्न

Category

हिजाब विरोधी भीड़ को भगाने के लिए तालिबान ने ईरानी दूतावास में की हवाई फायर

महिला प्रदर्शनकारी हाथों में बैनर लिए हुए विरोध कर रही थी। बैनर में विरोध प्रदर्शन को सराहना करते हुए लिखा हुआ था, 'ईरान बढ़ गया है', 'अब हमारी बारी है' और 'काबुल से ईरान तक, तानाशाही को ना कहो'।

785
2min Read
अफगान महिलाएँ

अफगानिस्तान में ईरानी दूतावास के बाहर हिजाब के विरोध में प्रदर्शन करने वाली महिलाओं को तितर-बितर करने के लिए तालिबान शासन ने गुरुवार (सितम्बर 29, 2022) को हवाई फायर की है। 

काबुल स्थित ईरानी दूतावास के बाहर 25 अफगानी महिलाएँ, ईरान में हो रहे विरोध प्रदर्शन को समर्थन करते हुए ‘महिलाओं के जीवन और उनकी स्वतंत्रता’ के नारे लगा रही थीं। हालाँकि, तालिबान शासन ने महिलाओं की इस आवाज को हवाई फायरिंग कर दबा दिया। 

महिला प्रदर्शनकारी हाथों में बैनर लिए हुए विरोध कर रही थी। बैनर में विरोध प्रदर्शन को सराहना करते हुए लिखा हुआ था, ‘ईरान बढ़ गया है’, ‘अब हमारी बारी है’ और ‘काबुल से ईरान तक, तानाशाही को ना कहो’।

काबुल में ईरानी दूतावास के सामने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेती अफगान महिलाएँ (फोटो साभार: AFP)

ईरान की राजधानी तेहरान में नैतिक पुलिस ने 22 वर्षीय महसा अमिनी को ठीक से हिजाब न पहनने के जुर्म में गिरफ्तार किया था। पुलिस हिरासत में  महसा अमिनी की मृत्यु हो गई थी। 

महसा अमिनी की मृत्यु के बाद ईरान की सड़कों पर हिजाब के विरोध में महिलाओं की आजादी के नारे के साथ बीते दो सप्ताह से प्रदर्शन चल रहे हैं। इस विरोध-प्रदर्शन के बाद कई लोगों की जान भी चली गई है।

The Indian Affairs Staff
The Indian Affairs Staff
All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts