फ़रवरी 2, 2023 12:26 पूर्वाह्न

Category

महाबलीपुरम के मंदिर और स्मारक हैं विदेशियों का मनपसन्द दर्शनीय स्थल, ताजमहल दूसरे नम्बर पर

भारत के अंदर आने वाले विदेशी पर्यटकों की सबसे पहली पसंद महाबलीपुरम के मंदिर रहे, करीब 1 लाख 40 हजार विदेशी पर्यटकों ने महाबलीपुरम के मंदिरों के दर्शन किए, वहीं केवल 38 हजार विदेशी पर्यटकों ने ताजमहल को देखा।

1315
2min Read
TAJMAHAL

भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों की पहली पसंद ताजमहल ना होकर महाबलीपुरम के मंदिर हैं, यह जानकारी पर्यटन मंत्रालय की एक रिपोर्ट ने दी है। पर्यटन मंत्रालय की हर साल पर्यटन एवं पर्यटकों के बारे में आने वाली रिपोर्ट ‘इंडिया टूरिज्म स्टेटिक्स 2021’ ने इसके साथ-साथ भारत में पर्यटन सम्बन्धी आँकड़े प्रस्तुत किए हैं।

27 सितम्बर को विश्व पर्यटन दिवस के मौके पर भारत के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने इस रिपोर्ट का विमोचन दिल्ली के विज्ञान भवन में किया, यहाँ उन्होंने राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2018-19 भी 81 विजेताओं को दिए। उन्होंने इस दौरान भारत को ‘पर्यटन का स्वर्ग’ बताया।

पर्यटन मंत्रालय द्वारा जारी की गई इस रिपोर्ट में भारत के अंदर वर्ष 2021 के अंदर हुई पर्यटक गतिविधियों के बारे में जानकारी दी गई है। इसमें भारत में आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या, भारत में स्थानीय पर्यटकों की संख्या एवं अन्य आँकड़े प्रस्तुत किए गए हैं।

क्या कहती है रिपोर्ट?

रिपोर्ट के अनुसार भारत में वर्ष 2021 में वर्ष 2020 की तुलना में विदेशी पर्यटकों की संख्या में गिरावट आई है, इसका कारण पूरे विश्व में कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण लगे हुए प्रतिबंध रहे हैं। वर्ष 2021 में भारत के अंदर करीब 15 लाख विदेशी पर्यटक आए, वर्ष 2020 में इनकी संख्या 27 लाख के करीब थी।

इन विदेशी पर्यटकों में से सर्वाधिक पर्यटक पंजाब में आए, पंजाब में वर्ष 2021 के दौरान करीब 3 लाख विदेशी पर्यटक आए, दूसरे नम्बर पर महाराष्ट्र रहा, जहाँ करीब 1 लाख 80 हजार पर्यटक आए। दिल्ली(1 लाख), कर्नाटक(72 हजार) और केरल (60 हजार) क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवे स्थान पर रहे।

पर्यटन मंत्रालय की रिपोर्ट

वहीं, दूसरी तरफ स्थानीय पर्यटकों यानी देश के ही लोगों के यात्रा करने की संख्या में उछाल आया, स्थानीय पर्यटकों की संख्या में करीब 17% की बढ़त देखने को मिली। वर्ष 2020 में जहाँ स्थानीय पर्यटकों की संख्या 61 करोड़ के आसपास थी वहीं, वर्ष 2021 में यह संख्या 67 करोड़ पहुँच गई।

इन में तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश एवं आंध्र प्रदेश ऐसे राज्य रहे जहाँ सर्वाधिक स्थानीय पर्यटकों ने यात्रा की। तमिलनाडु में करीब 11.5 करोड़, उत्तर प्रदेश में करीब 11 करोड़ और आंध्र प्रदेश में करीब 9.3 करोड़ पर्यटकों ने यात्रा की। कर्नाटक और महाराष्ट्र में भी 8 करोड़ और 4.3 करोड़ स्थानीय पर्यटकों ने यात्रा की।

रिपोर्ट के अनुसार 2021 में भारत ने विदेशी पर्यटकों की आमद से करीब 8.79 बिलियन डॉलर की विदेशी मुद्रा की कमाई की, यह वर्ष 2020 में 6.9 बिलियन डॉलर थी। भारत में सर्वाधिक विदेशी पर्यटक संयुक्त राज्य अमेरिका, बांग्लादेश, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा और नेपाल जैसे देशों से आए।

रिपोर्ट के अनुसार, भारत का विश्व के पर्यटन में 1.64% हिस्सा है। जहाँ विश्व भर में वर्ष 2021 के दौरान कुल 40 करोड़ के लगभग पर्यटकों ने यात्राएं की, वहीं भारत में इस दौरान करीब 70 लाख पर्यटक आए। वर्ष 2020 में भारत का विश्व के पर्यटन में 1.57% हिस्सा था, जो कि वर्ष 2021 के दौरान बढ़ कर 1.64% हो गया।

महाबलीपुरम के मंदिर और ताजमहल

रिपोर्ट के अनुसार, भारत के अंदर आने वाले विदेशी पर्यटकों की सबसे पहली पसंद महाबलीपुरम के मंदिर रहे, करीब 1 लाख 40 हजार विदेशी पर्यटकों ने महाबलीपुरम के मंदिरों के दर्शन किए, वहीं केवल 38 हजार विदेशी पर्यटकों ने ताजमहल को देखा। यह जानकारी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के टिकट विक्रय की जानकारी के ऊपर आधारित है।

महाबलीपुरम के मंदिर और स्मारक

महाबलीपुरम अथवा ममाल्लापुरम बंगाल की खाड़ी के तट पर तमिलनाडु राज्य के अंदर स्थित एक जगह है, जहाँ पर पल्लव वंश के राजाओं द्वारा 7वीं और 8वीं शताब्दी में बनवाए गए प्रसिद्ध मंदिर और स्मारक हैं। यहाँ पर करीब 40 स्मारक और हिन्दू मंदिर हैं। इस के अंदर पांडवों के नाम पर बनाए गए पत्थर के पञ्च रथ हैं। इसके अतिरिक्त महाबलीपुरम में वराह, आदि वराह, महिषासुरमर्दिनी एवं श्रीकृष्ण के मंदिर हैं।

स्थानीय पर्यटकों की बात की जाए तो सबसे अधिक ताज महल को देखा गया, वर्ष 2021 के दौरान करीब 32 लाख लोगों ने ताजमहल को देखा वहीं दूसरे नम्बर पर दिल्ली का लाल किला रहा, जिसे 13 लाख लोगों ने देखा।
क़ुतुब मीनार और महाबलीपुरम के मंदिर तीसरे और चौथे स्थान पर देखे जाने वाले स्थल रहे। क़ुतुब मीनार और महाबलीपुरम को करीब 11.5 लाख लोगों ने देखा।

Arpit Tripathi
Arpit Tripathi

अवधी, पूरब से पश्चिम और फिर उत्तर के पहाड़ ठिकाना है मेरा

All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts