फ़रवरी 4, 2023 2:01 अपराह्न

Category

अयोध्या में लता मंगेशकर चौक पर वीणा प्रतिमा बनी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र

लता मंगेशकर के अधिकतर भजन भगवान राम पर ही आधारित थे। यही वजह थी की उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अयोध्या में लता मंगेशकर चौक का निर्माण किया।

952
2min Read

मेरी आवाज़ ही पहचान है, गर याद रहे..

ये गीत उस गायिका का है, जिसकी आवाज सच में उसकी पहचान है और जिसके गाने देश ही नहीं, बल्कि विदेशों तक मशहूर रहे। Queen of melody कही जाने वाली लता मंगेशकर ने करीब आठ दशक तक सिनेमा जगत में अपने गानों के दम पर जिस तरह राज किया, वह मुक़ाम शायद ही किसी और गायक या गायिका को मिला हो।

लता मंगेशकर ने भारत की लगभग सभी भाषाओं में अपनी आवाज़ दी। भारतीय भाषा ही नहीं बल्कि कई विदेशी भाषाओं में भी उन्होंने अपनी आवाज़ दी है। यही वजह है की लता मंगेशकर का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शुमार है। 

इसी वर्ष 2 फरवरी के दिन लता मंगेशकर का देहांत हो गया और रह गए तो उनके गाए हुए बेमिसाल गाने, जिसके लाखों करोड़ों दीवाने हैं। ये उनके गानों की दीवानगी थी कि उनके गुजरने के कुछ महीनों बाद ही उनकी याद में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा अयोध्या में एक चौक बनाया गया, जिसका नाम लता मंगेशकर चौक रखा गया। 

दरअसल, सोशल मीडिया पर लम्बे समय से एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे विशाल वीणा, पानी में तैरते कई कमल, सात स्तम्भ, फूलों की सजावट और रात में रौशनी की जगमग के साथ लता मंगेशकर के बजते गाने माहौल को अलौकिक बना देते हैं।

ये दृश्य अयोध्या के राम मंदिर से कुछ ही मिनटों की दूरी पर लता मंगेशकर चौक का है। जहाँ नज़र आता है एक विशाल वीणा जो संगीत की देवी माँ सरस्वती का संगीत उपकरण है, इसके साथ पानी में तैरते 92 कमल के फूल हैं, लता मंगेशकर की उम्र बताता है। इसके अलावा, यहाँ सात सुरों वाले संगीत के लिए सात स्तम्भ नज़र आते हैं। लता मंगेशकर चौक में 40 फीट लंबी वीणा को स्थापित किया गया है। इस वीणा प्रतिमा का वजन करीब 14 टन है।

अब एक बड़ा सवाल आता है की लता मंगेशकर चौक अयोध्या में ही क्यों बनाया गया? क्योंकि लता द्वारा गाए गए अधिकतर भजन भगवान राम पर ही आधारित थे। जिस वजह से लता मंगेशकर चौक का निर्माण अयोध्या में किया गया। 

लता मंगेशकर के निधन के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छा थी कि उनकी याद में ऐसी कोई स्मृति बनाई जाए और कुछ ही महीनों बाद योगी सरकार द्वारा इस पर काम शुरू किया गया। केवल एक ही महीने में इस चौक का निर्माण पूरा किया गया और लता मंगेशकर के 93वें जन्मदिन के मौके पर 28 सितंबर को लता मंगेशकर चौक का उद्घाटन किया गया।

हिमांशी बिष्ट
हिमांशी बिष्ट
All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts