सितम्बर 27, 2022 6:08 पूर्वाह्न

Category

ये कैसी 'भारत जोड़ो यात्रा' है...चंदा न देने पर दुकानदारों से मारपीट कर रहे कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता

भारत जोड़ो यात्रा के बीच एक सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता कोल्लम के दुकानदारों से भारत जोड़ो यात्रा के लिए पैसा वसूलते हुए नजर आ रहे हैं

1020
2min Read
कॉन्ग्रेस

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा शुक्रवार सुबह यानी आज 16 सितम्बर, 2022 को केरल के कोल्लम शहर से शुरु हुई। भारत जोड़ो यात्रा के बीच एक सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता कोल्लम के दुकानदारों से भारत जोड़ो यात्रा के लिए पैसा वसूलते हुए नजर आ रहे हैं।

कोल्लम में कॉन्ग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के लिए वसूली की निश्चित राशि प्रति दुकान 2 हजार रुपये रखी गई है। अगर इससे कम कोई दुकानदार देता है, तो उसे इसका दुष्प्रभाव भी तत्काल झेलना पड़ रहा है।

समाचार न्यूज एजेन्सी ANI के मुताबिक कोल्लम के एक सब्जी विक्रेता को भारत जोड़ो यात्रा के लिए 2000 रुपये का योगदान नहीं करने पर सब्जी दुकान मालिक को कान्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने धमकाया है।

एक और दुकान के मालिक एस फवाज ने एएनआई के हवाले से कहा, “कांग्रेस कार्यकर्ताओं का एक समूह दुकान पर पहुंचा और भारत जोड़ो यात्रा के लिए चँदा माँगा। मैंने 500 रुपये दिए लेकिन उन्होंने 2000 रुपये की मांग की। उन्होंने तौल मशीनों को नुकसान पहुंचाया और सब्जियां फेंक दीं।

कौमुदी नामक समाचार पोर्टल के अनुसार कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अनस नामक एक शख्स की कुन्नीकोड़े में सब्जी की दुकान पर उस समय हमला किया जब दुकानदार ने भारत जोड़ो यात्रा के लिए 2 हजार रुपये देने से मना कर दिया। अनस का कहना है, “कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने 2 हजार रुपये की रसीद काट दी, जबकि मैं सिर्फ 500 रुपये ही दे सकता हूं।”

बीजेपी ने कॉन्ग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के नाम पर लिए जा रहे चंदे को जजिया टैक्स बताया। बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने इसे गुंडा जोड़ो यात्रा करार देकर ट्वीट किया, “कांग्रेस उन आक्रांताओं की तरह है जिन्होंने जजिया टैक्स लगाया था और अब कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा के नाम पर वसूली कर रही है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उस गरीब सब्जी वाले से मारपीट की जो कांग्रेस की यात्रा के लिए 2 हजार चंदा नहीं दे पा रहा था। जब कांग्रेस सत्ता में नहीं है तब इस तरह की वसूली कर रही है और अगर सत्ता में आ गई तो सोचिए किस तरह की वसूली होगी।”

Jayesh Matiyal
Jayesh Matiyal

जयेश मटियाल पहाड़ से हैं, युवा हैं और पत्रकार तो हैं ही।
लोक संस्कृति, खोजी पत्रकारिता और व्यंग्य में रुचि रखते हैं।

All Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Recent Posts

Popular Posts

Video Posts